FeaturedFESTIVAL & EVENTS

Pitru Paksha Shraddha 2023: shraddh- vidhi, Kanagat | Shradh Date | Donate Food to the Needy

86 / 100

Pitru Paksha Shraddha 2023 : जैसा कि आप भली-भांति जानते कि Pitru Paksha की शुरुआत है आज 29 सितंबर 2023 को हो रहा है,  Pitru Paksha में मुख्यतः हम अपने पूर्वजों को याद करते हैं, यह साल में मात्र 15 दिन आते हैं जिस दिन हम अपने पूर्वजों को याद करके उनका सम्मान करते हैं इसीलिए ज्यादा भी ना कर सके तो घर में एक दीपक जलाएं तथा कौए को रोटी खिलाएं, श्राद्ध- विधि, तिथियां, महत्व, तर्पण की तिथियां और क्या नहीं करना चाहिए, (Shradh 2023 Niyam: Shradh method, dates, importance, dates of tarpan and what not to do), यह जानकारी रिश्तेदारों, दोस्तों को साझा करें

पितृ पक्ष श्राद्ध हिंदू कैलेंडर में एक महत्वपूर्ण अवधि है जो किसी के पूर्वजों को सम्मान और सम्मान देने के लिए समर्पित है। यह 16 चंद्र दिनों की अवधि के लिए मनाया जाता है, जो भाद्रपद महीने की पूर्णिमा (पूर्णिमा के दिन) से शुरू होकर आश्विन महीने की अमावस्या (अमावस्या) तक होता है।

Pitru Paksha Shraddha तारीखें (paternity dates)

Pitru Paksha Shraddha 2023 : इस बार पितृपक्ष कुछ अलग होने वाले हैं क्योंकि अबकी बार अलग-अलग पंचांग ओं ने अपनी अलग-अलग Pitru Paksha की तारीखें निर्धारित किए इसीलिए लोग असमंजस की स्थिति में एक ही आखिर हमारा Pitru Paksha जो पूर्वजों को याद करने का दिन है वह कौन सा होगा इसके लिए उलझन की स्थिति बनी हुई है |(Pitru Paksha Shradh 2022)

हर साल की भांति Pitru Paksha 10 सितंबर 2023 से शुरू होने वाले हैं इसमें हम जानेंगे कि हमारी फितरत पूर्वज धरती पर किस रूप में आते हैं और हमें किस प्रकार उनका सम्मान करना चाहिए ताकि हमारे पैतृक को मोक्ष प्राप्त हो(Pitru Paksha Shradh 2023)

पितृ पक्ष या श्राद्ध एक 15 दिन की अवधि है जो भाद्रपद के महीने में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि के दौरान शुरू होती है।

Shradh 2022 Niyam: श्राद्ध- विधि, तिथियां, महत्व, तर्पण की तिथियां, संदेश और क्या नहीं करना चाहिए

पितृ पक्ष श्राद्ध तर्पण नियम (Pitri Paksha 2023 Rules)

  • इस दौरान ब्राह्मणों को भोजन करवाना चाहिए |
  • अन्न का दान करें गौ माता को और कौए को रोटी खिलाएं |
  • Pitru Paksha में ब्राह्मणों को भोजन करवाएं तथा बचे हुए भोजन को यदि कौवा खाए तो वह व्यक्ति सीधा स्वर्ग प्राप्त करता है |

Pitru Paksha में किसी की मृत्यु हो जाए तो(If someone dies during paternal leave)

Pitru Paksha Shraddha 2023 : प्राप्त जानकारी के अनुसार यह मानना है कि यदि Pitru Paksha में किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो पहली पीढ़ी वाले व्यक्ति को स्वर्ग की प्राप्ति हो जाती है क्योंकि यह जो 15 दिन होते हैं यह मोक्ष के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है और इस दौरान भगवान के द्वार मोक्ष के खुले रहते हैं

Pitru Paksha Shraddha 2023
Pitru Paksha Shraddha 2023

तर्पण पिता को जल देने का मंत्र (Pitri Paksha 2023 Mantra)
अपने गोत्र का नाम लेकर बोलें, गोत्रे अस्मतपिता (पिता का नाम) शर्मा वसुरूपत् तृप्यतमिदं तिलोदकम गंगा जलं वा तस्मै स्वधा नमः, तस्मै स्वधा नमः, तस्मै स्वधा नमः ||

पित्र पक्ष की कहानी (pitr paksh kee kahaanee)

पित्र पक्ष से संबंधित हिंदू कैलेंडर की बात करें तो उनका मानना है कि पितृपक्ष इसीलिए मनाए जाते हैं जिससे अपने पूर्वजों को याद किया जा सके और हिंदू कैलेंडर के अनुसार यह कुल 16 दिन तक मनाया जाता है |

Shradh 2022 Niyam: श्राद्ध- विधि, तिथियां, महत्व, तर्पण की तिथियां, संदेश और क्या नहीं करना चाहिए
Pitru Paksha Shraddha 2023

पितृ पक्ष में श्राद्ध की तिथियां- (Dates of Shradh in Pitru Paksha, Pitru Paksha Shradh 2023)

  1. पूर्णिमा श्राद्ध –  29 सितंबर 2023-
  2. प्रतिपदा श्राद्ध – 30 सितंबर 2023
  3. द्वितीया श्राद्ध – 1 अक्टूबर 2023
  4. तृतीया श्राद्ध – 2 अक्टूबर 2023
  5. चतुर्थी श्राद्ध – 3 अक्टूबर 2023
  6. पंचमी श्राद्ध – 4 अक्टूबर 2023
  7. षष्ठी श्राद्ध – 5 अक्टूबर 2023
  8. सप्तमी श्राद्ध – 6 अक्टूबर 2023
  9. अष्टमी श्राद्ध – 7 अक्टूबर 2023
  10. नवमी श्राद्ध – 8 अक्टूबर 2023
  11. दशमी श्राद्ध – 9 अक्टूबर 2023
  12. एकादशी श्राद्ध – 10 अक्टूबर 2023
  13. द्वादशी श्राद्ध – 11 अक्टूबर 2023
  14. त्रयोदशी श्राद्ध – 12 अक्टूबर 2023
  15. चतुर्दशी श्राद्ध – 13 अक्टूबर 2023
  16. अमावस्या श्राद्ध – 14 अक्टूबर 2023

See also:

  1. Care Bears Share Your Care Day: Celebrate, History, Quotes, Facts, status
  2. National Pediatric Hematology/Oncology Nurses Day 2023: Quotes, History
  3. National Ampersand Day 2023: History, Significance, Facts, Image Status to Share
  4. Happy Birthday Akshay Kumar( 9 September ), Wishes, Biography, Age, Family
Shradh 2022 Niyam: श्राद्ध- विधि, तिथियां, महत्व, तर्पण की तिथियां, संदेश और क्या नहीं करना चाहिए
पितृ पक्ष हिंदू कैलेंडर16-चंद्र दिन की अवधि है जब हिंदू अपने पूर्वजों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं,
दिनांक:शनि, 10 सितंबर, 2023 – सूर्य, 25 सितंबर, 2022 रुझान
उत्सव: 16 चंद्र दिन
आवृत्ति:वार्षिक
द्वारा देखा गया: हिंदू
संबंधित: गैलुंगन, मृतकों की वंदना
Purpose to pay respects to the dead
महीनेभाद्रपद के महीने में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि
Day Hashtags#PitruPaksha2023
#DatesPitruPaksha2023
#Shradh2023
#PitruPaksha2023
#StartDateAstrologyToday
#AstrologyTodayInHindi

ऐसे लें संकल्प 
ॐ तत्सत्,अद्य ————-गोत्रोत्पन्न: (गोत्र बोलें) ——————- नामाऽहम् (नाम बोलें) आश्विन मासे कृष्ण पक्षे——– ———-तिथौ—————वासरे स्व पित्रे (पिता) /पितामहाय (दादा) मात्रे (माता) मातामह्यै (दादी) निमित्तम् तस्य श्राद्धतिथौ  यथेष्ठं , सामर्थ्यं श्रद्धानुसारं तर्पणं/ श्राद्ध/ ब्राह्मण भोजनं च करिष्ये ।

पिता के लिए :- ओम भूर्भुव: स्व: पित्रेभ्य: तृपयामि।
माता के लिए :– ओम भूर्भुव: स्व: मात्रेभ्य:तर्पयामि।
दादा के लिए :– ओम् भूर्भुवः स्व: पितामहेभ्य:तर्पयामि।
दादी जी के लिए:- ओम् भूर्भुव: स्व: मातामहीभ्य:तर्पयामि।
परदादा के लिए:-  प्रपितामहेभ्य:  बोलेंगे।

Pitru Paksha Shraddha 2023 Wishes

हम हमेशा के लिए खो गए प्यार के लिए प्रार्थना करते हैं,

आप हमेशा हमारे दिल में रहेंगे। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां हैं,

Pitru Paksha Shradh 2022 image
Pitru Paksha Shraddha 2023

मैं आपके प्यार और शांति की कामना करता हूं।

आप हमारी याद में हमेशा जिंदा रहेंगे और हम सब आपसे प्यार करते हैं।

मुझे विश्वास है कि आप जहां भी होंगे प्यार और खुशियों से घिरे रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *